sukh

अनोखे उपाय जो जीवन में शांति लाय

* जन्म कुंडली में यदि ग्यारहवें घर में शनि हो तो मुख्य द्वार की चौखट बनाने से पहले उसके नी‍चे चंदन दबा दें, सुख-समृद्धि से घर सुशोभित रहेगा।

* भवन-निर्माण से पहले भूखंड पर पांच ब्राह्मणों भोजन कराना बहुत शुभ होता है। इससे घर में धन, ऐश्वर्य व सुखों का वास होता है। बच्चे भी संस्कारी व आज्ञाकारी होते हैं।

* यदि जीवन समस्याओं व दुखों से भरा हो, तो 100 ग्राम साब‍त चावल किसी तालाब में डाल दें।

* यदि घर में मां को लगातार कोई कष्ट सता रहा हो तो 121 पेड़े लेकर बच्चों को बांट दें, कष्ट दूर हो जाएगा।

* यदि जमीन-जायदाद लाख कोशिशों के बावजूद अधिक दामों में न बिक पा रही हो तो कभी-कभी चाय की पत्ती जमादार दो दें। चांदी का चौकोर टुकड़ा सदैव अपने पास रखें और चांदी के गिलास में ही पानी पीएं। हमेशा सफेद टोपी पहनें। संपत्ति अधिक दामों में बिक जाएगी।

* राहु ग्रह की अशुभता दूर करनी हो तो भगवती काली की उपासना करें। राहु अशुभ हो तो अचानक शारीरिक कष्ट होता है। चांदी की चेन गले में पहनें, राहत‍ मिलेगी। कुत्तों को रोटी अवश्य खिलाएं, गरीबों को सूजी का हलवा अपने हाथ से बांटे, कष्ट दूर होगा।

* यदि व्यवसाय या रोजगार में विघ्न बहुत आ रहे हों तो दस अंधों को भोजन कराएं और गुलाब जामुन खिलाएं। अपने माता-पिता की सेवा करें, विघ्न अपने आप दूर हो जाएंगे।

* कर्ज से मुक्ति के लिए कर्जदार व्यक्ति को चाहिए कि दोनों मुट्ठियों में काली राई लें। चौराहे पर पूर्व दिशा की ओर मुंह रखें तथा दाहिने हाथ की राई को बाईं ओर तथा बाएं हाथ की राई को दाहिनी दिशा में फेंक दें।

राई फेंकने के पश्चात चौराहे पर सरसों का तेल डालकर दोमुखी दीपक जला देना चाहिए। दीया मिट्टी का रखना चाहिए। यह प्रयोग शुक्ल पक्ष के प्रथम शनिवार को संध्या के समय करें। श्रद्धा द्वारा किया गया यह उपाय अवश्य कर्ज से मुक्ति दिलाता है। एक बार सफलता न प्राप्त हो तो दोबारा फिर कर लेना चाहिए। जिस चौराहे पर टोटका हुआ हो उस दिन उस चौराहे पर टोटका नहीं करना चाहिए। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। यदि अमावस्या हो और शनिवार हो, तो यह विशेष फलदायी होता है। तब यह टोटका करना जादुई चमत्कार से कम नहीं है।

यदि आपके पास वेद-पुराण, कुंडली या हिन्दू संस्कृति से सम्बंधित सवाल हो तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं, हमारा ईमेल id है @jaymahakaal01@gmail.com

साथ ही आप हमारे फेसबुक पेज www.facebook.com/JayMahakal01, ट्विटर, और इंस्टाग्राम @jaymahakal01 को like और share करें और नित नई जानकारियो के लिए हमसे जुड़े रहिये और विजिट करते रहिए।

www.jaymahakaal.com

जय माँ। जय महाकाल।

Like us on facebook:

हमें अपनी राय से अवगत कराये ताकि हम आपको आपके हिसाब से आर्टिकल्स दे सके। जय महाकाल।।