Festivals (व्रत एवं त्यौहार)

  • Special offerings for Devi Durga during these 9 days of Navratri.

    According to the Puranas, the goddess Durga becomes happy immediately after Offerings.

    (more…)

  • कैसे करें महाशिवरात्रि पूजन

    श्री गणेशाय नमः

    महाशिवरात्रि पर 4 प्रहरों में ऐसे करें शिव पूजन, जपें ये मंत्र…

    शिव होंगे आप पर अतिप्रसन्न, अगर करेंगे इस तरह उनका पूजन… (more…)

  • Totke क्या आप अकस्मात बीमार हो रहे हैं? या हो रही है धन की कमी?

    आप कमाते तो खूब हैं, परंतु ना जाने कैसे बढ़ जाते हैं आपके खर्च और रुकने का नाम ही लेते। आपके घर कभी किसी बीमार ने चौखट ना लाँघि और अचानक से बिमारियों ने घर कर लिया? (more…)

  • क्या है अक्षय तृतिया? क्यों मानते हैं इसे इतना शुभ?

    अक्षय तृतीया या आखा तीज दरअसल विक्रमी संवत कैलेंडर के वैशाख मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया (तीसरी) तिथि को कहते हैं। पौराणिक मान्‍यता है कि इस दिन किया जाने वाला कोई भी शुभ कार्य शुभ फलदायी ही होता है। वैसे तो सभी बारह महीनों की शुक्ल पक्षीय तृतीया शुभ होती है, किंतु वैशाख माह की यह तिथि स्वयंसिद्ध मुहूर्तो में मानी गई है।

    (more…)

  • gangaur क्या है गणगौर? क्यों मनाते हैं ये पर्व?

    अपने प्राकृतिक सौंदर्य एवं समृद्ध इतिहास की वजह से राजस्थान की रेत के कण-कण में पर्यटकों की रुचि स्पष्ट दिखती है। भारत ही नहीं, विश्व के पर्यटन मानचित्र पर महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले राजस्थान में आयोजित होने वाले मेले एवं उत्सव इसे और विशिष्ट रूप प्रदान करते हैं। अब जब कि हवाओं पर वसंत का मौसम राज कर रहा है तब राजस्थान में इस ऋतु पर और रंगोत्सव होली का रंग लगातार छाया हुआ है। (more…)

  • क्या है गुड़ी पड़वा पूजन समय?

    गुड़ी पड़वा का पर्व महाराष्‍ट्र, आंध्र प्रदेश और गोवा के अलावा देश के कई दक्षिण भारतीय राज्‍यों में हर्षोल्‍लास के साथ मनाया जाता है। यह त्‍योहार चैत्र मास के शुक्‍ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शुरू होने वाले नए साल की शुरुआत को ही मनाने की परंपरा है। गुड़ी का अर्थ होता है ध्‍वज और पड़वा का अर्थ होता है प्रतिपदा।

    (more…)

  • क्या है फाल्गुन मास का धार्मिक एवं वैज्ञानिक महत्व?

    फाल्गुन या फागुन का महीना हिन्दू पंचांग का अंतिम महीना है. इस महीने की पूर्णिमा को फाल्गुनी नक्षत्र होने के कारण इस महीने का नाम फाल्गुन है. इस महीने से धीरे धीरे गरमी की शुरुआत होती है , और सर्दी कम होने लगती है.

    (more…)

  • Lord Hanuman क्या हैं हनुमान जी के १२ नाम?

    धर्म ग्रंथों में हनुमानजी के 12 नाम बताए गए हैं, जिनके द्वारा उनकी स्तुति की जाती है। गीताप्रेस गोरखपुर द्वारा प्रकाशित श्रीहनुमान अंक के अनुसार हनुमानजी के इन 12 नामों का जो रात में सोने से पहले व सुबह उठने पर अथवा यात्रा प्रारंभ करने से पहले पाठ करता है (more…)

  • क्यों करते हैं ग्यारवें दिन गणेश जी की प्रतिमा का विसर्जन?

    गणेशोत्सव श्री बाल गंगाधर तिलक ने अंग्रेजों के खिलाफ भारतीयों को एकजुट करने के लिए आयोजित किया था जो कि धीरे-धीरे पूरे राष्ट्र में मनाया जाने लगा है।

    (more…)

  • क्यों किया जाता है शिव का रुद्राभिषेक?

    सावन का पवित्र माह शुरू होते ही शिवालयों में भगवान शिव को जल के साथ कुछ विशेष चीजें अर्पित की जाती हैं, इसे रुद्राभिषेक कहा जाता है। इसमें शुक्ल यजुर्वेद के रुद्राष्टाध्यायी के मंत्रों का पाठ किया जाता है। शास्त्रों के अनुसार सावन में रुद्राभिषेक करना और भी शुभ व लाभकारी होता है।

    (more…)

  • क्यों धारण करना पड़ा था गणेश को धूम्वर्ण का अवतार?

    अन्य सभी देवताओं के समान भगवान गणेश ने भी आसुरी शक्तियों के विनाश के लिए विभिन्न अवतार लिए। श्रीगणेश के इन अवतारों का वर्णन गणेश पुराण, मुद्गल पुराण, गणेश अंक आदि ग्रंथो में मिलता है।

    (more…)

  • क्यों प्रिय है गणेश जी को मोदक

    भगवान गणेश की मूर्तियों एवं चित्रों में उनके साथ उनका वाहन और उनका प्रिय भोजन मोदक जरूर होता है। शास्त्रों में कहा गया है कि भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए सबसे आसान तरीका है मोदक का भोग।

    (more…)

  • क्यों प्रिय है शिव को सावन?

    भगवान शिव की पूजा करने का सबसे उत्तम महीना होता है सावन लेकिन क्या आप जानते हैं कि सावन के महीने का इतना महत्व क्यों है और भगवान शिव को यह महीना क्यों प्रिय है? आइए जानते हैं इसके पीछे की मान्यताओं के बारे में

    (more…)

  • क्यों मानते हैं गणगोर का पर्व?

    गणगौर का त्यौहार मुख्य रूप से राजस्थान में मनाया जाने वाला त्योहार है. गणगौर का अर्थ है गण माने तो शिव एवं गौर यानी गौरी मां. इस दिन भोले नाथ और गौरा की पूजा की जाती है.

    (more…)

  • क्यों लिया था देवी माँ ने भ्रामरी का अवतार??

    देवताओं की सहायता के लिए देवी ने अनेक अवतार लिए। भ्रामरी देवी का अवतार लेकर देवी ने अरुण नामक दैत्य से देवताओं की रक्षा की। पूर्व समय की बात है। अरुण नामक दैत्य ने कठोर नियमों का पालन कर भगवान ब्रह्मा की घोर तपस्या की। तप से प्रसन्न होकर ब्रह्मदेव प्रकट हुए और अरुण से वर मांगने को कहा। अरुण ने वर मांगा कि कोई युद्ध में मुझे नहीं मार सके न किसी अस्त्र-शस्त्र से मेरी मृत्यु हो, स्त्री-पुरुष के लिए मैं अवध्य रहूं और न ही दो व चार पैर वाला प्राणी मेरा वध कर सके। साथ ही मैं देवताओं पर विजय प्राप्त कर सकूं। (more…)

  • क्यों लिया था देवी माँ ने शाकंभरी का अवतार??

    कथा यूँ प्रारंभ होती… दानवों के उत्पात से त्रस्त भक्तों ने जब कई वर्षों तक सूखा एवं अकाल से ग्रस्त होकर देवी से प्रार्थना की तब देवी ऐसे अवतार में प्रकट हुई, जिनकी हजारों आखें थी। अपने भक्तों को इस हाल में देखकर देवी की इन हजारों आंखों से नौ दिनों तक लगातार आंसुओं की बारिश हुई, जिससे पूरी पृथ्वी पर हरियाली छा गई तथा जीवन रस से परिपूर्ण हो गया। (more…)

  • गणपति की कौनसी मूर्ति है सही व लाभकारी?

    गाजे बाजे के साथ गणपति बप्पा हमारे द्वार पर दस्तक देने आ रहे हैं। अधिकतर घरों में गणेशजी की प्रतिमा स्थापित कर 10 दिन तक उत्सव की पूरी तैयारी है, लेकिन गणेश प्रतिमा को लेकर कुछ बिंदु ऎसे हैं, जिन्हें लेकर असमंजस की स्थिति रहती है। जैसे भगवान की सूंड किस तरफ होना चाहिए, प्रतिमा खड़ी हुई होना चाहिए या बैठे हुए विग्रह की स्थापना की जाना चाहिए।

    (more…)

  • घर-घर पधारनेवाले हैं गणेश, जाने क्यों मानते हैं गणेश चतुर्थी?

    गणेश चतुर्थी बुद्धि एवं ज्ञान के देवता भगवन गणेश की पूजा का सबसे बड़ा दिन माना जाता है। गणेशोत्सव भारत के सबसे बड़े हिन्दू पर्वों में से एक है। गणेशोत्सव देश भर में मनाया जाता है लेकिन महाराष्ट्र में इसकी धूम कुछ ज्यादा ही होती है। इस त्योहार में हिन्दू धर्म के ईष्ट देवता गणेश की विशेष पूजा की जाती है।

    (more…)

  • चैत्र नवरात्र के यह 9 दिन भूलकर भी नही खाएँ यह चीजें।

    कल से चैत्र नवरात्र का प्रारंभ हुआ है कई लोग नौ दिनों तक उपवास रखते हैं तो वहीं कुछ लोग नवरात्र के पहले और आखिरी दिन ही उपवास रखते हैं। उपवास के दिनों में वैसे तो आमतौर पर फलाहार या साबूदाना जैसी चीजें ही खाई जाती हैं, लेकिन इन नौ दिनों में लोग तला-भुना व्रत का आहार भी खूब लेते हैं।

    (more…)

  • चैत्र नवरात्रि: पूजन एवं घटस्थापना महूर्त

    एक वर्ष में चार नवरात्रि चैत्र, आषाढ़, आश्विन और माघ मास में आती है, जो शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तक चलते हैं। इनमें चैत्र और आश्विन नवरा‍त्र प्रमुख माने जाते हैं। इसमें भी आश्विन नवरा‍त्र का काफी महत्व है, इसे वासंती नवरात्रि भी कहा जाता है।

    (more…)

  • जानिए कब है गुप्त नवरात्री एवं उसके महत्व

    माघ गुप्त नवरात्र 18 जनवरी 2018 से लेकर 26 जनवरी 2018 तक रहेगी।

    हिन्दू धर्म में नवरात्र मां दुर्गा की साधना के लिए बेहद महत्त्वपूर्ण माने जाते हैं। नवरात्र के दौरान साधक विभिन्न तंत्र विद्याएं सीखने के लिए मां भगवती की विशेष पूजा करते हैं। तंत्र साधना आदि के लिए गुप्त नवरात्र बेहद विशेष माने जाते हैं। आषाढ़ और माघ मास के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली नवरात्र को गुप्त नवरात्र कहा जाता है। इस नवरात्रि के बारे में बहुत ही कम लोगों को जानकारी होती है। (more…)

  • नवरात्र अष्टमी एवं नवमी के दिन के विशेष उपाय

    देश चैत्र नवरात्रि का त्योहार मना रहा है, हिन्दू मान्यता के अनुसार नवरात्रि के नौ दिन बेहद पवित्र माने जाते हैं। इनमें जो भी लोग मां दुर्गा की आराधना करते हैं उनकी सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। हिन्दू पंचांग और धर्म ग्रंथों में ऐसे कई उपाय बताए गए हैं जिन्हें अपनाकर दैनिक जीवन से जुड़ी परेशानियों से छुटकारा पाया जा सकता है।

    (more…)

  • नवरात्र के कुछ अचूक उपाय जो कर सकते हैं पूरी आपकी हर मनोकामना।

    नवरात्र के नौ दिनों को पूरे साल में सबसे ज्यादा शुभ माना जाता है। हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि यदि किसी काम को करने के लिए पूरे साल में कोई शुभ दिन नहीं है, तो ऐसे काम को नवरात्र में संपन्न किया जा सकता है। तंत्र शास्त्र का भी यह मानना है कि इन नौ दिनों में किए गए टोटके जल्दी ही शुभ फल देने वाले होते हैं।

    (more…)

  • नवरात्र के कुछ अनकहे, दिलचस्प तथ्य।

    चैत्र नवरात्र की प्रतिपदा के साथ ही हमारे भारतवर्ष में हिन्दू नव वर्ष का शुभारम्भ हो गया है, नवरात्र का पर्व भारतवर्ष में बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता है, नवरात्र के दिनों में भक्त देवी माँ की विशेष कृपा प्राप्ति हेतु विभ्भिन्न प्रकार की उपासना और साधना करते है, माता के इस पावन पर्व पर हर कोई उनकी अनुकम्पा पाना चाहता है।

    (more…)

  • नवरात्र घटस्थापना का उचित महूरत नवरात्र घटस्थापना का उचित महूरत

    कल घट स्थापना के लिए सभी मुर्हत सर्वश्रेष्ठ है अभिजात मुर्हत तक पर रविवार ओर नये साल के आगमन के हिसाब से पहला चौघडियाँ छोड़कर आप सवा आठ, सवा नौ, सवा दस, सवा ग्यारह, ओर सवा बारह तक मुर्हत मे घट स्थापना कर सकते है ।। (more…)

  • नवरात्र महोत्सव विशेष

    नवरात्रि प्रथमा तिथि घटस्थापना,चन्द्रदर्शन, शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी पूजा 10 अक्टूबर 2018 बुधवार
    द्वितीया तिथि द्वितीया तिथि का क्षय
    तृतीया तिथि सिन्दूर चंद्रघंटा 11 अक्टूबर 2018 वृहस्पतिवार,

    (more…)

  • नवरात्रों में यदि मिले यह संकेत, तो समझें माता रानी है आपसे प्रसन्न।

    हिन्दू नव-वर्ष एवं गुड़ी पड़वा की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं। नवरात्रि चल रहे हैं और यह एक ऐसा वक्त है जब भक्तजन पूरे विधि-विधान से देवी मां का पूजन कर उसे खुश करने में लगे हैं, लेकिन क्या देवी मां की कृपा आप पर हो रही है ? क्या आपकी पूजा सफल हो रही है ?

    (more…)

  • नाग पंचमी का महत्त्व

    हिंदू धर्म में नाग पंचमी का विशेष महत्व है। नाग पंचमी के दिन देश के कई हिस्सों में सांपों की पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है कि सांपों की पूजा करने से शिव जी प्रसन्न होते हैं। और अपने भक्त की मनोकामनाओं की पूर्ति करते हैं। वहीं, पौणारिक मान्यताओं में शिव जी का आशीर्वाद पाने के लिए नाग पंचमी को खास दिन बताया गया है।

    (more…)

  • भगवान परशुराम की कुछ सुनी अनसुनी बाते

    हिंदू पंचांग के अनुसार वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को भगवान परशुराम की जयंती मनाई जाती है। धर्म ग्रंथों के अनुसार इसी दिन भगवान विष्णु के आवेशावतार परशुराम का जन्म हुआ था। परशुराम जयंती के अवसर पर आज हम आपको भगवान परशुराम से संबंधित कुछ रोचक बातें बता रहे हैं, जो इस प्रकार है

    (more…)

  • Ganpati Bappa मंगल चतुर्थी: उपाय एवं पूजन तिथि

    इस बार ३ अप्रैल २०१८ मंगलवार को शाम ०४.४४ से ०४ अप्रैल २०१८ बुधवार को शाम ०५.३२ तक वैशाख मास (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार चैत्र मास) के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी है। इस दिन भगवान श्रीगणेश को खुश करने के लिए उपवास किया जाता है। शाम को चंद्रदेव के साथ पूजा की जाती है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, इस दिन कुछ उपाय करें तो दुर्भाग्य दूर हो सकता है। (more…)

  • राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

    रक्षाबंधन के त्योहार के लिए बाजार तैयार है। बहनों ने अपने भाइयों के लिए राखियां लेना शुरू कर दिया है। जिनके भाई दूर रहते हैं उनके लिए बहनों ने स्नेह के धागों से बनी राखियां भेज दी हैं, ताकि उनके भाइयों की कलाई सूनी न रहे। भाई-बहन के प्रेम को दर्शाता यह त्योहार इस साल 26 अगस्त को मनाया जाएगा।

    (more…)

  • सप्तमी पर करें ये उपाय, खुलेगी आपकी किस्मत।

    हिंदू धर्म में नवरात्रि की महिमा अपरम्पार कही गई है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नवरात्रि में किए गए प्रयोग अत्यंत फलदायी होते है, इनको श्रद्धा से करने से सभी अभिलाषाएँ पूर्ण होती है। इस बात का अवश्य ही ध्यान रखे कि यह प्रयोग गोपनीय तरीके से बिना किसी संशय के, सात्विक भाव से किए जाए।

    (more…)

  • हनुमान जयंती पर विशेष।

    इस बार दो शुभ नक्षत्रों के संयोग से हनुमान जन्मोत्सव का पर्व मनाया जायेगा। हनुमान जयंती 19 अप्रैल, 2019 पर गजकेसरी और चित्रा नक्षत्र का योग बन रहा है। कहते हैं कि इस दिन बजरंग बली को चोला चढ़ाने से हर बिगड़ा काम बन जाता है और हनुमान जी की विशेष कृपा होती है।

    (more…)

  • होलिका दहन के पीछे वैज्ञानिक तथ्य।

    हमारे ऋषि-मुनियों ने जो भी त्यौहार बनाये उनके पीछे कई वैज्ञानिक तथ्य छुपे मिले ऐसे ही कपोल कल्पित त्यौहार हमारी संस्कृति में नहीं हैं उसके पीछे कई गूढ़ रहस्य छुपे हैं ।

    (more…)

  • holika-dahan होली के उपाय बिमारियों से बचाये

    बीमारियां क्या अकस्मात आके कर रही हैं परेशान?दवाइयों ने चुरा लिया है घर का सुख चैन? तो अपनाइये ये उपाय और बीमारियों से पाइये निजात। (more…)

  • होली के कुछ अचूक उपाय होली के कुछ अचूक उपाय

    १-यदि आपके व्यापार में लगातार गिरावट आ रही है व्यापार चल नहीं रहा है तो होली के दिन पीले कपड़े में काली हल्दी ,11 गोमती चक्र और एक सिक्का चांदी का काले कपड़े में बांधकर होली की अग्नि की 11 बार परिक्रमा करके 108बार मंत्र जपते हुए उस अग्नि में प्रवाहित कर देना चाहिए आपके व्यापार में वृद्धि होने लगेगी। (more…)

  • होली के दिन क्या करें, क्या ना करें?

    होली का उत्सव आनंद और ख़ुशी के लिए पुरे देश में मनाया जाता है | बंगाल राजू को छोड़ के सभी जगह पर होली का उत्सव मनाया जाता है|अगर आप होली के दिन इन बातो को करते है तो आप को कही कठिनाई का सामना करना पडेगा | इसलिए आज हम आपको बता रहे है होली के दिन क्या करे और क्या ना करे ?

    (more…)

  • होली पर इन उपायों से घर लाएं बरकत।

    पर्व त्यौहार निश्चित तिथि और नक्षत्र में होते है। पर्व का दिन कोई सामान्य दिन नहीं होता है वो विभिन्न योग से बनता है और बहूत खास होता है। चाहे वो दिवाली का दिन हो होली हो या दशहरा, लोग अपने हिसाब से टोटके करते हैं और इस दिन का लाभ उठाते हैं।

    (more…)

  • Holi होली पर्व की हार्दिक शुभकामनायें

    आप सभी को आप सभी के परिवार वालो को हिन्दु सनातन धर्म के लोकप्रिय त्योंहार होली की बहुत बहुत शुभकामनाएं ।। (more…)

  • होली पर्व पर शीघ्र विवाह के टोटके होली पर्व पर शीघ्र विवाह के टोटके

    क्या आपके विवाह में विलंभ हो रहा है? क्या बार बार प्रयत्न करने पर भी आपके विवाह के योग नही बन रहे? तो अपनाइए ये उपाय और अपने विवाह का शीघ्र योग बनाइये।

    (more…)

error: Content is protected !!