Month: September 2018

पितृपक्ष में कौवे का क्यों है महत्त्व?

भारत के अलावा दूसरे देशों की प्राचीन सभ्यताओं में भी कौवे को महत्व दिया गया है।

Continue Reading

धरती पर किसने सब से पहले किया था श्राद्ध?

माना गया है कि बिना तिल बिखेरे श्राद्ध किया जाए, तो दुष्टात्माएँ हवि उठा ले जाती हैं।

Continue Reading

श्राद्ध में किन गलतियों को करने से परहेज़ करना चाहिए?

इन दिनों खाने में चना, मसूर, काला जीरा, काले उड़द, काला नमक, राई, सरसों आदि वर्जित मानी गई है

Continue Reading

श्राद्ध में किन बातों का रखें ध्यान?

16 दिवसीय महालय श्राद्ध पक्ष कहलाता है। इस समय सूर्य देव कन्या राशि में स्थित होते हैं। इस अवसर पर चंद्रमा भी पृथ्वी के काफी निकट होता है। चंद्रमा के थोड़ा ऊपर पितृलोक माना गया है। सूर्य रश्मियों पर सवार होकर पितृ पृथ्वी लोक में अपने पुत्र-पौत्रों के यहां आते हैं तथा अपना भाग लेकर शुक्ल प्रतिप्रदा को सूर्य रशिमों पर सवार होकर वापस अपने लोक लौट जाते हैं।

Continue Reading

क्यों करते हैं ग्यारवें दिन गणेश जी की प्रतिमा का विसर्जन?

तब उन्हें शीतल सरोवर में ले जाकर पानी में उतारा। 

Continue Reading

क्यों प्रिय है गणेश जी को मोदक

गणेश जी का एक दांत परशुराम जी से युद्ध में टूट गया था। इससे अन्य चीजों को खाने में गणेश जी को तकलीफ होती है, क्योंकि उन्हें चबाना पड़ता है…..

Continue Reading

क्यों धारण करना पड़ा था गणेश को धूम्वर्ण का अवतार?

धूम्रवर्ण ने अहंतासुर का पराभाव किया।

Continue Reading

गणपति की कौनसी मूर्ति है सही व लाभकारी?

गाजे बाजे के साथ गणपति बप्पा हमारे द्वार पर दस्तक देने आ रहे हैं। अधिकतर घरों में गणेशजी की प्रतिमा स्थापित कर 10 दिन तक उत्सव की पूरी तैयारी है, लेकिन गणेश प्रतिमा को लेकर कुछ बिंदु ऎसे हैं, जिन्हें लेकर असमंजस की स्थिति रहती है। जैसे भगवान की सूंड किस तरफ होना चाहिए, प्रतिमा खड़ी हुई होना चाहिए या बैठे हुए विग्रह की स्थापना की जाना चाहिए

Continue Reading

घर-घर पधारनेवाले हैं गणेश, जाने क्यों मानते हैं गणेश चतुर्थी?

क्या आपको पता है की पहले यह पर्व सिर्फ एक दिन ही मनाया जाता था

Continue Reading

स्वास्तिक के उपाय एवं टोटके

benefits-and-usage-of-swastik

Continue Reading

error: Content is protected !!